skip to Main Content
राष्ट्रीय आय (National Income) और सकल घरेलू उत्पाद (GDP)

राष्ट्रीय आय (National Income) और सकल घरेलू उत्पाद (GDP)

“राष्ट्रीय आय (National Income) और सकल घरेलू उत्पाद (GDP)” is important topic for all competitive exams like CET, SSC CGL, RRB NTPC, UPSC etc. In these exams, almost 4-5 questions are coming from Economics. Let’s start Economics topic: राष्ट्रीय आय (National Income) और सकल घरेलू उत्पाद (GDP).

राष्ट्रीय आय (National Income) और सकल घरेलू उत्पाद (GDP)

राष्ट्रीय आय (National Income):

किसी भी राष्ट्र की अर्थव्यवस्था द्वारा पूरे वर्ष में उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं के शुद्ध मूल्य के योग को राष्ट्रीय आय कहा जाता है।

  • इसे Net National Product at Factor Cost ([email protected]) यानी साधन लागत पर शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद द्वारा  भी दर्शाया जाता है।
  • भारत में राष्ट्रीय आय की गणना सबसे पहले दादा भाई नैरोजी द्वारा सन् 1868 में अपनी किताब “Poverty in British Rule in India” में की गयी थी। इसमें उनके द्वारा प्रति व्यक्ति आय को 20/- रू0 बताया गया था।

राष्ट्रीय आय यानी साधन लागत पर शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद (Net national Product at Factor Cost) को समझने के लिए कुछ अन्य महत्वपूर्ण आर्थिक विषयों (terms) को समझतें हैं, जिनकी सहायता से राष्ट्रीय आय और प्रति व्यक्ति आय का आकलन किया जाता है:-

GDP (Gross Domestic Product या सकल घरेलू उत्पाद):

  • किसी भी राष्ट्र की सीमा के अंतर्गत एक आर्थिक वर्ष में उत्पादित होने वाली सभी अंतिम वस्तुएं तथा सेवाओं के मौद्रिक मूल्य को राष्ट्र का सकल घरेलू उत्पाद या GDP कहा जाता है।
  • नोट: GDP में सभी वस्तुओं तथा सेवाओं के अंतिम रूप को ही लिया जाता है; मध्यवर्ती रूप को नहीं।

NDP (Net Domestic Product या शुद्ध घरेलू उत्पाद): 

शुद्ध घरेलू उत्पाद या NDP को समझने से पहले हमें मूल्यह्रास (Depreciation) को समझना चाहिए।

मूल्यह्रास (Depreciation)– एक वर्ष की अवधि में निवेश खर्च का वह हिस्सा है जो कि खराब उपकरणों को बदलने के लिए व्यय किया जाता है जोकि उत्पादन के स्तर को बनाए रखने के लिए आवश्यक है।

    • ये किसी भी तरह से अर्थव्यवस्था की क्षमता में वृद्धि नहीं करता है।
    • यदि इसी Depreciation को GDP से हटा दिया जाए तो शुद्ध घरेलु उत्पाद प्राप्त होता है।

NDP = GDP – D (Depreciation)

GNP (Gross National Product यानी सकल राष्ट्रीय उत्पाद):

  • केवल भारतीयों द्वारा देश अथवा विदेश में एक वर्ष में किये गये कुल उत्पादित अंतिम वस्तुओं तथा सेवाओं के मौद्रिक मूल्य को सकल राष्ट्रीय उत्पाद या GNP कहते हैं।
  • नोट GDP का आकलन करते समय राष्ट्र की सीमाओं के अंतर्गत उत्पादित समस्त वस्तुओं को जोड़ लिया गया था, परन्तु इन वस्तुओं में से कुछ का उत्पादन विदेशियों द्वारा भी किया गया होगा जोकि भारत में निवास कर रहें हैं।
  • अतः GNP को GDP में से विदेश में रह रहें भारतीयों द्वारा उत्पादित मूल्य (X) को जोड़ कर तथा भारत में रह रहें विदेशियों द्वारा उत्पादित मूल्य (M) को घटा कर प्राप्त किया जाता है।

GNP = GDP + X – M

यहाँ:-

    • M = विदेशियों द्वारा उत्पादित मूल्य
    • X = भारतीयों द्वारा उत्पादित मूल्य
NNP (Net National Product या शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद):

यदि GNP में से मूल्यह्रास को हटा दिया जाए तो हमें शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद यानी NNP प्राप्त होता है।

NNP = GNP – D (Depreciation)

अब तक हमें यहाँ शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद यानी Net National Product (NNP) ज्ञात हुआ है जबकि राष्ट्रीय आय ज्ञात करने के लिए NNP at FC निकलना है। अत: साधन लागत (Factor Cost) और बाजार मूल्य(Market Price) के बारे में पढतें हैं:-

साधन लागत (Factor Cost):–

  • किसी भी वस्तु या उत्पाद के बनने में जो मूल राशि लगी होती है वह उस वस्तु की साधन लागत कहलाती है।
  • For example: यदि कोई खिलौना बाजार में 100 रू0 का बेचा जाता है जिसमें 5 रू0 का कर (टैक्स) लगा हुआ है, तो उस खिलौने की साधन लागत 95 रू0 मानी जाएगी।

बाजार मूल्य (Market Price):–

  • उपभोक्ता जिस मूल्य पर बाजार में किसी भी वस्तु को खरीदता है, वह उस वस्तु का बाजार मूल्य (Market Price) कहलाता है।
  • इसे इस तरह से भी समझा जा सकता है कि साधन लागत में यदि करों (टैक्स) को जोड़ दिया जाए तो बाजार मूल्य निकल आता है।

आइये अब हम NNP at MP यानी बाजार मूल्य पर शुद्ध राष्ट्रीय उत्पाद का आकलन करते हैं:-

NNP (at MP) = NNP (at FC) + Indirect Taxes

                          या

NNP (at FC) = NNP (at MP) – Indirect Taxes

  • हमें कई वस्तुओं पर सरकार द्वारा अनुवृत्ति (Subsidies) भी प्रदान की जाती है। अतः उसे भी NNP(FC) में जोड़ा जाता है।
NNP (at FC) = NNP (at MP) – Indirect Taxes + Subsidies
  • इसी NNP (at FC) को राष्ट्रीय आय कहा जाता है।
प्रति व्यक्ति आय (Per capita income):-
  • यदि हम राष्ट्रीय आय को राष्ट्र की जनसंख्या से विभाजित कर दें तो हमें प्रति व्यक्ति आय प्राप्त हो जाएगी।
⇒   प्रति व्यक्ति आय = राष्ट्रीय आय / राष्ट्र की जनसंख्या

Read Also:

If you like and think that Economics topic on “राष्ट्रीय आय (National Income) और सकल घरेलू उत्पाद (GDP)” is helpful for you, Please comment us. Your comments/suggestions would be greatly appreciated.

Back To Top
error: Content is protected !! Copyrights Reserved